लाल किला हिंसा केस में चार्जशीट:एक्टर दीप सिद्धू और इकबाल सिंह समेत 16 आरोपी, सोशल मीडिया से प्रदर्शनकारियों को उकसाने का आरोप

गणतंत्र दिवस पर लाल किले में तोड़फोड़ और हिंसा के मामले में पुलिस ने शुक्रवार को चार्जशीट दाखिल की है। इसमें पंजाबी एक्टर दीप सिद्धु और इकबाल सिंह समेत 16 लोगों के नाम हैं। ये प्रदर्शनकारी 26 जनवरी को कृषि कानूनों के विरोध में निकाली गई किसानों की रैली में शामिल थे। इकबाल पर हिंसा के दौरान सोशल मीडिया के जरिए प्रदर्शनकारियों को उकसाने का आरोप है।

चार्जशीट में पुलिस ने कहा है कि पुलिस और किसान नेताओं के बीच रैली के लिए तीन रास्तों पर सहमति बनी थी, लेकिन कुछ प्रदर्शनकारियों ने इस समझौते को तोड़ने की पहले से योजना बना ली थी।

26 जनवरी को प्रदर्शनकारियों ने लाल किले पर हिंसा की थी
दरअसल, कृषि कानूनों के विरोध में इसी साल 26 जनवरी को किसानों ने ट्रैक्टर परेड की थी। इस दौरान दिल्ली में हिंसा भड़क गई थी। ट्रैक्टर और बाइक सवार 300 से ज्यादा लोगों ने लाल किला के अंदर जमकर उत्पात मचाया था। इसी दौरान प्रदर्शनकारियों ने किले पर कब्जा कर लिया और एक व्यक्ति ने प्राचीर पर चढ़ कर केसरी रंग का खालसा पंथ और पीले रंग का किसान आंदोलन का झंडा लगा दिया था।

इस हिंसा में काफी तोड़फोड़ हुई थी। पुलिसकर्मियों पर भी जानलेवा हमला हुआ था, जिसमें 500 से ज्यादा कर्मी घायल हुए थे। दिल्ली पुलिस ने करीब 150 लोगों को गिरफ्तार कर 44 FIR दर्ज की थीं। इसमें लोगों को उकसाने के लिए भी दीप सिद्धु को आरोपी माना गया।

दीप सिद्धु ने वीडियो के जरिए किसान नेताओं को भी धमकाया था
हिंसा के बाद से ही दीप सिद्धु फरार चल रहा था। 3 फरवरी को दिल्ली पुलिस ने उस पर एक लाख का इनाम घोषित किया था। दीप सिद्धू पर लाल किले पर धार्मिक झंडा लगाने और लोगों को उकसाने का आरोप था। दीप सिद्धू पहले दिन से ही किसान आंदोलन से जुड़ा था, लेकिन 26 जनवरी को हुई हिंसा के बाद से वह फरार था।

सूत्रों के मुताबिक, दीप सिद्धू अमेरिका के कैलिफोर्निया में रहने वाली अपनी एक मित्र के संपर्क में था। वह एक्ट्रेस है। दीप इस मित्र को वीडियो भेजता था और वो वीडियो को दीप सिद्धू के सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड करती थी। दीप सिद्धू ने 28 जनवरी को एक वीडियो जारी किया था, जिसमें उसने किसान नेताओं को धमकाया था। उसने कहा था कि किसान नेता जमीन बचाने के लिए नहीं, बल्कि राजनीति करने के लिए आंदोलन कर रहे हैं।

31 जनवरी को सोशल मीडिया पर लाइव भी आया था दीप सिद्धु
29 जनवरी को दीप ने फिर सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड किया। इसमें उसने कहा कि वह न डरता है और न ही भागा है। वह जांच में जरूर शामिल होगा। 31 जनवरी को सोशल मीडिया पर लाइव होकर दीप सिद्धू भावुक हुआ। उसने पंजाबियों पर साथ न देने के आरोप लगाए। सभी ने मिलकर मुझे गद्दार बना दिया है। इसके बाद सिद्धू ने एक और वीडियो शेयर किया और उसमें धाराप्रवाह अंग्रेजी बोलते हुए खुद को बेगुनाह बताया और किसानों से एकजुट होने की मांग की।

हिंसा के दौरान तलवार लहराने वाला मनिंदर भी गिरफ्तार

एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने कहा कि तीस हजारी कोर्ट में करीब 3 हजार पेज की एक चार्जशीट दाखिल की है। मामले में हमने 16 लोगों को गिरफ्तार किया, जिसमें से 13 को जमानत मिल चुकी है। आरोपियों में जुगराज सिंह है, जिसने लाल किले की प्राचीर पर चढ़कर निशान साहिब झंडा फहराया था। दूसरा खेमप्रीत सिंह है, जिसने हिंसा के दौरान हथियारों के साथ पुलिस पर हमला किया था।

दीप सिद्धू के अलावा दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मनिंदर सिंह को भी गिरफ्तार किया है। मनिंदर को हिंसा के दौरान दोनों हाथों से तलवारें लहराते देखा गया था। दिल्ली पुलिस ने 4.3 फीट की दो तलवार को भी दिल्ली के स्वरूप नगर स्थित उसके घर से बरामद कर लिया था। इस मामले में अब भी कई आरोपियों को गिरफ्तार करना बाकि है, जिनको दिल्ली पुलिस तलाश कर रही है।

पंजाब के मुक्तसर जिले में अप्रैल 1984 में जन्मे दीप सिद्धू अपने करियर की शुरुआत मॉडलिंग से की थी। दीप ने लॉ की पढ़ाई की है। वह किंगफिशर मॉडल हंट का विजेता रह चुका है। मिस्टर इंडिया कॉन्टेस्ट में मिस्टर पर्सनैलिटी का खिताब जीत चुका है। साल 2015 में उसकी पहली पंजाबी फिल्म ‘रमता जोगी’ रिलीज हुई थी। हालांकि दीप 2018 में आई फिल्म जोरा दास नुम्बरिया से मशहूर हुए, जिसमें उनका किरदार गैंगस्टर का था।

News Source : Bhaskar.com

Related Posts